x
SEO
x

SEO Kya Hai | Search Engine Optimization Ki Puri Jankari Hindi Me


seo,search engine optimization,blogging,seo tip hindi,blog ki traffic badhaye

अगर ब्लॉग या website का सही तरीके से Search Engine Optimization किया जाए तो बहुत सारी फ्री organic traffic पाई जा सकती है. इस पोस्ट मे seo kya hai, seo ka meaning, seo ke types,  on page seo kya hai और उसके factor क्या है, off page seo क्या है और उसके factor क्या क्या है उसके बरेमे detail मे जानेंगे. 

इंटरनेट पर प्रति दिन 3 लाख से ज्यादा नयी blog post publish होती है | मतलब आप जब तक ये पोस्ट पढ़ लेंगे तब तक सेकड़ों new post पब्लिश हो चुकी होंगी | तो अगर आप blogger है और अपने ब्लॉग को succesful बनाने के लिए आपको अपने ब्लॉग का SEO करना बहोत important है |



Complete SEO Tutorial And Training in Hindi


SEO ki definition in hindi


SEO एक शॉर्ट शब्द है है जिसका full form होता है Search engine optimization ( खोज इंजिन अनुकूलन ).

Wikipedia के अनुसार, " SEO का मतलब किसी web site या web pages को search engine पर प्रभावित तरीके के display करना होता है "

Seo का पूरा अर्थ हिन्दी मे :

Seo Meaning In Hindi : Search engine optimization एक ऐसी process है जिसमे blog या website के content को प्रभावित रूप से पेस करने से search engine उस content को अपने search result मे keyword के हिसाब से top result मे display करे |   

Search Engine Optimization क्यूँ जरूरी है ?

हर blogger या website owner के मन मे ये question जरूर आता होगा की, "Seo क्यूँ जरूरी है ?"

Q. अगर आपको कोई भी चीज अगर आपको इंटरनेट खोजनी है तो आप क्या करेंगे ? 


Example : Live cricket score, job vacancies, movies, tutorials, photos and etc.


A. Google पे या अन्य search engine पे सर्च करेंगे |



पूरे world मे 93% लोग किसी भी content को search करने के लिए सर्च इंजिन का इस्तेमाल करते है | उसमे से 80% लोग Google पे ही सर्च करते है | क्यूंकी google अन्य search engine से बहेतर रिज़ल्ट display करता है |

मेरे सभी ब्लॉग पर 73% traffic google आती है और बाकी सिर्फ 5% yahoo और bing से आती है |  

Fact About Seo : search engine पर 67% से ज्यादा clicks सिर्फ top 5 results से ही आती है |

तो अगर आप hindi blogger है तो आपको ज्यादा traffic पाने के लिए अपने ब्लॉग के seo पर महेनत करनी बहोत जरूरी है |

इस पोस्ट मे हम seo के basic और आपके blog को सही तरीके से seo करके search engine पर top ranking कैसे प्राप्त करे उसके बारे मे जानेंगे |

Types Of SEO ( seo के प्रकार ) : Black hat seo and white hat seo.

अगर आप सिर्फ अपने blog को search engine पर जल्दी से जल्दी top rank प्राप्त करने के लिए गलत तरीके जैसे की ज्यादा से ज्यादा keyword का इस्तेमाल करना , low quality backlinks बनाकर ब्लॉग का seo करते है तो उसे blackhat seo माना जाता है | जिससे आपका ब्लॉग गूगल पर ब्लॉक किया जा सकता है |

दूसरा प्रकार है white hat seo. अगर आप ब्लॉग पर useful content, keyword का सही इस्तेमाल और high quality backlinks की मदद से seo करते है तो उसे white hat seo माना जाता है |

तो हम अब जानते है की अपने blog पर white hat seo karke अपने ब्लॉग को कैसे traffic बढ़ाकर succesfull बनाए |

ब्लॉग या वैबसाइट के seo की process दो step मे की जाती है :

1. On page seo


2. Off page seo

On page seo क्या है ? 

On page seo मे content, website की speed, blog की design, keyword का सही इस्तेमाल, page का टाइटल, blog का mobile-friendly बनाना और web page के url को इस तरह से optimise करना होता है जिससे वो search engine पर उसके keyword के लिए top rank करे | अब हम detail मे ON-PAGE seo के top factor को जानेंगे.

On-Page Seo Factors :

1. Page Title :

On page seo मे सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है seo optimized page title. सर्च इंजिन पर high ranking पाने के लिए page title को optimize करना अनिवार्य है. आप जिस भी keyword को rank करवाना चाहते है, उसका page के title मे होना जरूरी है. 


on page seo guide in hindi, page title idea in hindi, good page seo title in hindi


Page title की length 60 से 70 के बीच होनी चाहिए. क्यूंकी ज़्यादातर सर्च इंजिन पर इतना ही रिज़ल्ट डिस्प्ले होता है.

आप page title को optimize करने के लिए उसमे कुछ seo friendly words का use कर सकते है, जैसे की Best, Latest, How To, Step By Step, Complete Guide, Tutorial और New.  

2. Meta Description :


Seo मे meta description tag दूसरा सबसे बड़ा महत्वपूर्ण factor है. ज्यादातर लोग ये मानते है की google अब meta tags को ज्यादा importants नहीं देता, कुछ हद तक ये सही है. लेकिन अगर आपका content अच्छा है और  perfect meta description create करते है तो, search engine पर आपको उसका फायदा मिलता है.

Meta Description सर्च इंजिन को आपकी post short summary पेस करता है. meta description की length 160 character या उससे ज्यादा हो तो best है.

meta description tag guide in hindi, how great great meta description tag full guide in hindi


Search Engine मे अच्छी ranking पाने के लिए meta description मे कमसे कम एक बार आप जिस keyword को rank करवाना चाहते है उसका होना अनिवार्य है. 

3. Keyword Placement :

Keyword placement यानि keyword को कहाँ कहाँ use करना. On Page Seo मे keyword placement बहोत महत्वपूर्ण factor है. अगर आप पोस्ट मे सही तरीके से keyword का इस्तेमाल करते है तो आपको best result मिल सकता है.


keyword placement guide in hindi, how place keyword in post full guide in hindi


Blog की पोस्ट मे 3 जगहों पर Keyword को Place करना चाहिए :

            1. Post के first paragraph मे first 200 words के अंदर.

            2. Headings और Sub Headings Tags मे.

            3. Post के End paragraph मे.
     


4. Keyword Density :

Keyword density मलतब आप post मे keyword का उसे कितने persent करते है. search engine पर बेस्ट result पाने के लिए आप को ये जानना बहोत महत्वपूर्ण है की आपकी पोस्ट पर keyword density क्या है. 1% से 5% keyword density seo के liye best है, लेकिन अगर उससे ज्यादा हो तो  उसे keyword stuffing माना जाता है जो seo के लिए danger है.

keyword density kya hai, keyword density ke bare me puri jankari hindi me


5. Page Url


Page का url अगर seo optimize हो तो वो आपको search engine पर good ranking हासिल करने मे मदद मिलती है. page के url को optimize करने के लिए आपको url को customize करना बहोत जरूरी है. आप जब भी कोई पोस्ट लिखते है तो blogspot या wordpress पर post की title automatic create हो जाती है. और वो काफी लंबी और seo friendly नहीं होता. 

how create good post title for seo, good post seo title vs bad post title in seo full guide in hindi


अगर अच्छा result पाना चाहते हो तो page url को हो सके उतना short बनाना चाहिए और उसमे main keyword का use करना चाहिए.     

6. Website Speed

ब्लॉग या वैबसाइट की speed seo का सबसा बड़ा factor है. google की  एक study के हिसाब से अगर page 7 second के अंदर load नहीं होता है तो user उस website को use करना छोड़ देता है. और वो back button दबाकर दूसरी site पे चला जाता है. जिसका आपको बहोत बड़ा नुकसान होता है.

page speed check kaise kare puri jankari hindi me, how check page speed full guide in hindi


ब्लॉग की design आप customize करके page की speed को बढ़ा सकते हो. page speed बढ़ाने के के important टिप्स :

       1. अगर आप wordpress use करते है तो सही Hosting Company से hosting खरीदे.

       2. अपने ब्लॉग पर बिन जरूरी Plugins और widgets को हटा दे.

       3. Flash, Multimedia और बड़ी size की images का उसे न करे.

       4. Facebook Page Plugins या अन्य third पार्टी plugins को हटा दे.

       5. अगर आप Blogspot use करते है तो template खुद design करे, अगर ये possible नहीं है तो Simple               Templates का ही उसे करे. गलती से भी free मे download किया हुआ templete use न करे, क्यूंकी                   उनमे बहोत सारी javascripts और redirectors होता है.

Website की speed पता करने के लिए मे Google Page Insights और Gtmetrix tools का उसे करता हूँ. आप इन tools को use करके page की speed जान सकते हो.

7. Sub Heading Tags :

सर्च इंजिन पोस्ट के title के बाद सबसे ज्यादा महत्व sub heading tags (h1,h2,h3,h4,h5,h6) को देता है. अपनी पोस्ट मे कमसे कम 2 sub heading tags का use करे.sub heading tags को 4 से 6 word मे ही रखे  और उसमे keyword का उसे करे.

8. Website Design :

Website की design का direct effect तो seo पे नहीं पड़ता, पर उसका सीधा असर user पे पड़ता है. so simple सी बात है की अगर आपकी साइट user को पसंद आती है तो google भी उसे पसंद करेगा.

Website का design एक दम clear और eye catching होना चाहिए. website का navigation search engine को समज मे आना चाहिए.  


Website की design mobile friendly होनी जरूरी है. क्यूंकी अब गूगल ने mobile first indexing start करदी है. अगर आपका ब्लॉग mobile friendly नहीं है तो गूगल रंकिंग मे problem आ सकती है.

9. Outbound Links :

Outbound links यानि website के page पर से dursi website को दे जाने वाली links. seo मे outbound links का बहोत बड़ा important है. outbound links 2 प्रकार की होती है, एक low quality और  दूसरी high quality. 

high quality outbound links आपके ब्लॉग के seo के लिए बेस्ट है और उससे आपको search engine पर advantage मिलता है. वही अगर आप low quality links use करते है तो वो seo के लिए danger है.


Outbound links को चेक करने के लिए आप जिस website की link refer करना चाहते है, उसकी domain authority (DA) और pagerank चेक कर ले. 

10. Internal Links :


Internal Links मलतब blog की अंदर की links जो आप post के साथ जोड़ना चाहते है. अगर आप सही तरीके से internal links बनाते है तो वो आपको सर्च इंजिन पर high ranking मे बहोत हेल्प कर सकता है. 

Internal Link Banane Ka Tarika :

         1. ब्लॉग Post मे 4 या 5 लिंक्स ही use करे.

         2. जितना हो सके उतना post के related post को ही लिंक दे.

         3. link के anchor का सही तरीके से लिखे. जो spam न लगे.  

11. Image Alt Tag :

Blogging मे हर new blogger एक गलती तो जरूर करता है, और वो है images मे alt tag का use न करना. image alt tag सर्च इंजिन को ये सेंदेश देता है की वो image किस बारे मे है.

अगर हम alt tag use ही न करे तो search engine को कैसे पता चलेगा की image किस विषय पर है. image alt tag मे हम image को किस keyword के लिए rank करवाना चाहते है उसे उसे करना चाहिए.

12. Image Optimization :

Search engine big size की images को पसंद नहीं करता और उससे वैबसाइट की speed भी कम हो जाती है. image को compress करने के बाद ही उसे पोस्ट करना चाहिए.


अगर आप wordpress use करते है तो आप को कई plugins मिल जाएंगे, जो आपके ब्लॉग की image को compress करके ही पोस्ट करे. लेकिन अगर आप blogspot पर ब्लॉग चलाते है तो आपको manually image को compress करने के बाद ही पोस्ट करना होगा. 

मे अपने blogspot ब्लॉग पर image को compress करने के लिए compressor.io tool का use करता हूँ और सभी blogspot blogger को ये tool suggest करता हूँ. ये  बहोत आसान है, बस आपको अपनी image को upload करना है और उसे compress करके download करना है.

13. Social Share Button :

Social share button का on page seo पर सीधे तोर कोई असर नहीं पड़ता. लेकिन बहोत सारे seo experts मानते है की इनको लगाने से आपको फाइदा मिलता है. और अगर आपका कंटैंट अच्छा है तो उस पे sharings मिलते है. तो कम से कम एक social share button का उसे करे.


मे अपने ब्लॉग के लिए AddThis के Share Button का use करता हूँ. ये बिलकुल फ्री है और आप अपने हिसाब से customize कर सकते है. 

14. Content Length :

Onpage seo मे content की length एक बहोत बड़ा factor है. जितना ज्यादा कंटैंट page पर होता है, उतने ही आपके high ranking के chance बढ़ जाते है. ज्यादा कंटैंट का मतलब ये नहीं है की आप कुछ भी लिख कर पोस्ट की length को बड़ी करे, उससे आपको कोई फायदा नहीं मिलेगा.

आप जिस भी विषय पर पोस्ट लिखे उसे detail मे लिखे, जीतने भी पॉइंट्स आप जानते है वो सब पोस्ट मे दाल दे. क्यूंकी search engine puri detailed जानकारी को सबसे पहले दिखाना पसंद करता है.   

Must Read : On Page SEO क्या है - 16 Advance Onpage Seo Techniques in Hindi   

Off page seo क्या है ?

Webpage के बाहर backlinks, domain की authority, page की authority, domain age और social network पर value को सही तरीके से optimise करने की process को off page seo कहा जाता है. तो अब detail मे जानते है off page seo के factor. 

Off page seo Factors in hindi :

1. Backlinks :

Off Page seo मे सबसे बड़ा factor work करता है, उसे backlinks कहते है. backlinks का मतलब  आपकी website या blog को dusri websites से मिली हुई लिंक्स.

Backlinks दो types की होती है :

       1. High Quality Backlinks

       2. Low Quality Backlinks

High Quality Backlinks आपके ब्लॉग को सर्च इंजिन मे high ranking मे बहोत हेल्प कर सकती है. और low quality backlinks  ब्लॉग के लिए danger है.

High Quality Backlinks आप अन्य ब्लॉग पर comment करके, forum मे पोस्ट करके, guest post लिखकर, Q&A sites पर answer देके या web directory मे submit करके natural तरीके से पा सकते हो.

Kisi और के blog को link दे के बदले मे उससे link exchange और paid link building  service से लिंक buy करके जो links आप पाते है उसे low quality backlinks कहा जाता है.

2. Social Networking Sites Engagement :

Social networking sites engagement का मलतब आपके ब्लॉग का social media पर कैसा प्रभाव है. आपके facebook page पर कितने likes है, twitter पे कितने follower है, rss feedburner पर कितने subscriber है और आपके page को कितनी बार share या like किया गया है. 

अगर social networking sites पे आपका अच्छा प्रभाव है तो वो आपकी website की ranking मे help करेगा.

3. Page Rank

Wikipedia के अनुसार : Page Rank (PR) एक खोज इंजन परिणामों में वेबसाइटों को रैंक करने के लिए Google खोज द्वारा उपयोग किया गया एल्गोरिदम है। पेजरैंक का नाम Google के संस्थापकों में से एक लैरी पेज के नाम पर रखा गया था। PageRank वेबसाइट पृष्ठों के महत्व को मापने का एक तरीका है।

High Quality कंटैंट create कर के आप good page rank पा सकते है. 

4. Domain Authority :


Domain Authority (DA) एक खोज इंजन रैंकिंग स्कोर है जो MOZ द्वारा विकसित किया गया है जो भविष्यवाणी करता है कि खोज इंजन परिणाम पृष्ठों (एसईआरपी) पर एक वेबसाइट कितनी अच्छी तरह रैंक करेगा एक डोमेन प्राधिकरण स्कोर एक से 100 के बीच होता है, जिसमें रैंक करने की अधिक क्षमता के बराबर उच्च स्कोर होता है।

Domain Authority कैसे Calculate की जाती है :


Domain Authority की गणना Root Domain की total links, Mozrank, MozTrust आदि को जोड़कर संख्या के आधार पर की जाती है - एक एकल DA स्कोर में। वेबसाइटों की तुलना करते समय या समय के साथ वेबसाइट के "रैंकिंग ताकत" पर नज़र रखने के बाद इस अंक का उपयोग किया जा सकता है

5. Broken Links :

Broken links यानि आपकी website की वो links जिनके पगे मोजूद नहीं है, उन links पर click करने पर वो 404 page पर ले जाती है. 

Blog को seo optimize करने के लिए आपको इन links का repair करना बहुत जरूरी है. broken links को ढूँढने के लिए आप google search console का या किसी और tool का use कर सकते है.  

6. Anchor Text

Anchor text का मतलब है links को दिये जाना वाला text. अगर आप जो भी links बनाते है unko proper anchor text दे , possible हो तो उसमे keyword क use करे. 

Post Summary :

Blog या website को सही तरीके से seo करके आप ब्लॉग की organic traffic बढ़ा सकते है | search engine पर top rank पाने का वैसे तो कोई shortcut नहीं है , पर अगर आप सही seo करे तो search ranking मैं सुधार जरूर आयेगा |

Thanks for reading SEO kya hai ? learn search engine optimization in hindi. Please check new updates on Pro Blog Hindi for learn about blogging, seo, make money online and internet in hindi.

Blogging और Seo की बेस्ट टिप्स अपने email इनबॉक्स मे पाने के लिए अपना ईमेल Adress करे Verify

About Us

Pro Blog Hindi India Blog - Blogging, Seo And Make Money Online Sikhe Hindi Me. Get Daily New Tech News, Motivation Story, Life Hackes And Best Eduction Stuf From Pro Blog Hindi. Hamare Bare Me Aur Jankari Ke Liye Click Here.

DMCA.com Protection Status