x
SEO
x

On Page SEO Kya Hai - 16 Best On-Page Seo Techniques in Hindi


कई बार अच्छा content होने के बावजूद कई बार हमारा page सर्च इंजिन पर first rank या first page पर show नहीं होता है. ये बात 100% सही है की content ही राजा है ( Content Is King ), पर अगर हम page का On-Page SEO ठीक तरह से न करे तो Search Engine पर उसकी ranking पाना मुश्किल है.

पिछले article मे हमने ये जाना की seo क्या है और उसके factor कोन कोन से है. इस post मे हम on-page seo क्या है और onpage seo की advance techniques के बारे मे detail मे जानेंगे. 

on page seo in hindi, on page seo kya hai, on page seo techniques in hindi, learn advance seo in hindi, advance seo guide in hindi, advance seo training in hindi

किसी भी blog, website या webpage का seo ( search engine optimization ) 2 प्रकार से किया जाता है : 

1. ON-PAGE Seo




इन दोनों types मे से सबसे important ON-PAGE Seo है. और सबसे पहले सभी को इसी step पे ध्यान देना चाहिए. क्यूंकी अगर आप सही तरीके से अपने page को optimize नहीं करते है तो आप कितने भी backlinks बना लो या social network पे कितने भी followers बना लो आप सर्च इंजिन पर good रिज़ल्ट नहीं पा सकते.

ON PAGE Seo Kya Hai - Complete Guide In Hindi

Moz के अनुसार On-Page Seo की Definition in हिन्दी : किसी भी individual web pages को सही तरीके से optimize करके सर्च इंजिन पर high rank पाना और उससे अधिक से अधिक organic traffic लाने की प्रक्रिया को On-Page Seo कहा जाता है. On-Page Seo मे page के content और html source code दोनों को Optimize किया जा सकते है. जो Off-Page seo से बिलकुल विपरीत है, जो links और दूसरे बाह्य संकेतो को दर्शाता है.


On-Page Seo एक complete task है जिसमे आपको वेब पेज के title, meta tags, content, multi media, url, speed, keyword placement, keyword density, content length, web page design, sub heading tags, outbound links और internal links इन सब को optimize करना होता है. तो अब हम इन सभी task को detail मे जानेंगे.

16 Best ON-PAGE Seo Techniques in Hindi For Rank First On Search Engine

अगर आप नीचे दी गयी Seo Techniques को follow करके pages को perfect optimize करते है तो आपको google या किसी और search engine मे first rank पाने मे कोई नहीं रोक सकता.

1. High quality content create करे

दुनिया के किसी भी seo expert से आप ये question पूछेंगे की google पे first rank पाने की seo tips क्या है तो उसका सबसे पहला answer यही होगा - 'Content is King' .

रोज कई नए blogs बनते है और लाखों post लिखी जाती है, तो अगर आपको first rank हासिल करनी है तो आपको अच्छा content तो create करना ही होगा. 

High quality content मे सिर्फ लिखा हुआ ही नहीं, multimedia को भी महत्व दिया जाता है. 

आज अगर आप किसी भी niche पे new post लिखने के बारे मे सोचे तो सबसे पहले उसे google पे एक बार search कर ले. शायद ही कोई ऐसा niche या topic बचा होगा जिसपे बहुत कम content मिले.

तो अगर आप high quility content create करना चाहते है तो सबसे पहले google के top 10 result को अच्छी तरह से पढ़ ले और फिर उनसे बेस्ट और long content create करे. अगर आप ऐसा करते है और सभी ON-PAGE seo techniques का use करते है तो तो मे आपको अपने 3 years के blogging के experience से कहता हूँ की आप की पोस्ट 6 months के अंदर first page पर होगी. 

High Quality Content के Elements : आपका कंटैंट high  quality है या नहीं उसका पता करने के लिए आप नीचे दिये 7 question से अपने आप से पूछिये -

 1. क्या content की length 1000 words से ऊपर है ?
 2. क्या पोस्ट मे images, videos या कोई eye catching infographic है ? 
 3. क्या content का grammar और spelling correct है ?
 4. क्या page का text proper formatting किया हुआ है ?
 5. क्या page पर जो text है वो readable है ? ( मलतब छोटे छोटे paragraphs मे है )
 6. क्या content social media पर share करने लायक है ?
 7. क्या proper internal और external links है ?

अगर आपका answer सभी question के लिए 'Yes' है तो congrats आपका कंटैंट search engine के लिए ready है. अगर 'no' है तो सबसे पहले content को ठीक करो.

2. Title tag मे targeted keyword का use करे

On-Page seo मे content के बाद web page के title optimize करना बहोत जरूरी है. क्यूंकी search engine सबसे पहले webpage के title को display करता है.

आप जिस भी keyword को rank करवाना चाहते है उसे हो सके उतना title की starting मे use करे जिससे उसकी search engine पर वैल्यू बढ़ जाती है.

अगर targeted keyword का title के starting मे use करना possible न हो तो कम से कम एक बार title मे कहीं भी एक बार use करना चाहिए.

दूसरी बात आपका title थोड़ा सा uniqe होना चाहिए. title create करने से पहले ये जरूर चेक कर ले की आप जिस title को use करना चाहते है वो पहले से तो मोजूद तो नहीं है.

3. Title मे modifiers का इस्तेमाल करे

best, latest, tutorial, guide, quick और 2017 ( current year )  जैसे modifiers आपको keyword के long tail versions के लिए rank करवाने मे बहोत help कर सकता है.

4. Page के url को seo friendly बनाए

Google web page के url first 3 से 5 words सबसे ज्यादा महत्व देता है. 

तो आपको url हो सके उतना short बनाना चाहिए.

और हमेशा url के अंदर targeted keyword का use करना चाहिए.

  Example of url :

  probloghindi.com/p=123 ( Avoid )

  probloghindi.com/top-100-seo-techniqes-hindi-2017 ( Avoid Long Url )

  probloghindi.com/seo-techniqes-hindi ( Seo Friendly Url )

5. Title को <h1> heading tag मे convert करे

Seo heading tag <H1> बहोत महत्व पूर्ण है. पेज के body section मे title display करने के लिए <H1> tag use किया जाता है.

ज़्यादातर wordpress themes मे पहले से <h1> tag automaticaly जोड़ा हुआ आता है.

लेकिन बहोत सारी free themes और blogspot के template मे पेज के title सही तरीके से add नहीं किया हुआ होता है.

तो सबसे पहले आपके page के source code मे ये check कर ले की आपका title <h1> tag ने है की नहीं. अगर नहीं है तो title को <h1> tag मे convert करदे.

दूसरा कई themes मे मैंने देखा है की बहोत सारे <h1> tag का use किया जाता है. बहोत सारे heading tags search engine को confuse कर देते है. तो अगर आपके ब्लॉग मे बहोत सारे <h1> tag है तो उन्हे हटा दे और सिर्फ एक ही <h1> tag का use करे.

6. प्रथम 100 words मे keyword का use करें

आप जिस keyword को rank करवाना चाहते है उसका article first 100 से 200 words मे होना बहोत important है.

कई लोग post का बहोत बड़ा intro create करते है और keyword का use last मे करते है. जिससे search engine को आपके article को समजने मे दिक्कत आ सकती है.

अगर आप first 100 words मे keyword का use करते है तो वो search engine को strong signal देता है. और उससे उसकी वैल्यू भी बढ़ जाती है.

7. Sub heading tags का use करें

Page के title के बाद page मे उसे किए गए sub heading tags ( <h2> ) का सही तरीके से use करने से google ranking मे बहोत मदद मिलती है.

Sub heading tags मे आप related keyword का use करना चाहिए. 

हर पोस्ट मे कम से कम 2 बार तो subheading का use करे. 

मैंने wordpress और blogspot की कई themes मे ये देखा है कई widgets के title को sub heading tags use किया हुआ होता है. तो आप भी अपने ब्लॉग के source code को चेक करके ऐसा कुछ है तो उसे fix करे.

8. Meta description का इस्तेमाल करें

meta description सर्च इंजिन मे title के नीचे display होने वाला post का short description है. 

meta description मे कम से कम एक बार targeted keyword का use करे. और meta description की length कमसे कम 180 character होनी चाहिए.

अगर आप हिन्दी मे ब्लॉगिंग करते है तो meta disctiption हो सके तो हिन्दी मे ही लिखे जिससे आपकी click rate बढ़ सकती है.  

9. Website की speed को boost करें

अगर आपकी साइट load होने मे बहोत टाइम लगती है तो वो आपके blog के seo के लिए बहोत खराब संकेत है. Site की speed seo मे सबसे महत्व पूर्ण factor है.  

तो अगर आप भी साइट की स्पीड को boost करना चाहते है तो सबसे पहले आप को site की speed पता करनी होगी. site स्पीड पता करने के लिए आप GMetrix, Google Page Speed Tool और Think With Google इन तीनों टूल का उसे करे.

अगर आप wordpress पर ब्लॉग चलातें है तो जबसे महत्व पूर्ण है की आप सही web hosting का ही use करे. उसके अलावा आप plugins, widgets और बिन जरूरी multimedia को साइट से हटा के साइट की स्पीड boost कर सकते है.

10. Responsible web design का use करें

Google ने mobile first indexing शरू कर दी है. तो जिन websites का design responsible नहीं है, उनका search engine पर high ranking पर टिक पाना बहोत मुश्किल है.   

Responsible Web Design का मतलब है प्रत्येक web page का सभी device ( computer, tablet और mobile ) पर सही तरीके से display होना.

अगर आप html और css मे coding करना जानते है तो आप खुद web page को responsible बना सकते हो. अगर नहीं तो Wordpress और blogspot पे बहोत सारे ऐसे templete है जिनका use कर सकते है.

11. Bounce rate को कम करें

Bounce Rate मतलब कितने प्रतिशत visiters आपकी साइट पर सिर्फ एक page को visit करके उसे छोड़ देते है. इसका पता आप google analytics tool का उसे करके कर सकते है.

जब website bounce rate ज्यादा होता है तो वो search engine को negative feedback देता है. 

आप नीचे दिये गए 10 step को follow करके bounce rate को कम कर सकते है :

  1. Content की readability को improve करे.
  2. PopUps को website से हटा दे.
  3. Webpage के अंदर Call-to-action create करे.
  4. Website पर सही content पेश करके लोगो का आपके brand trust बढ़ाए.
  5. Blog पर fresh content publish करते रहे.
  6. Attractive meta discription लिखे.
  7. High-Volume Keywords के लिए multiple landing page बनाए.
  8. Page का loading time speed up करे.
  9. External Links को new window मे ही open हो ऐसे set करे.
 10. Post मे कम से कम एक author box create करे.

इसके अलावा आप good multi media का use करके भी bounce rate को बहोत कम कर सकते है.

12. Outbound Links का use करे

Webpage पर सिर्फ text का होना महत्व पूर्ण नहीं है, जहां जहां पर जरूरत हो वहाँ पर आपको authority websites को links देनी चाहिए.

कई लोग outbound links नहीं देते है, उनका मानना ये है की उससे उनके visitor दूसरी साइट पर चले जाएंगे. ये बात बिलकुल गलत है.

दूसरी authority sites को जहा पर जरूर हो वहाँ पर लिंक देने से एक तो लोगो का आप पे trust बढ़ता है और दूसरा आपने कितना reaserch किया है उसका भी user को पता चलता है.

जब हम कोई किताब पढ़ते है तब कई बार हम देखते है की book के author ने दूसरी किताबों से ली गयी reaserch को दिखाते है.

Outbound links का search engine पर कितना प्रभाव है इसका आपको wikipedia से सीखना चाहिए. wikipedia एक ऐसी website है जिसके हर पेज आपको कई links देखने को मिलेगी.

किसी को link देने का मतलब ये नहीं है की आप किसी भी वैबसाइट को लिंक दे दे. पर हो सके तो कम से कम एक या दो website को link दीजिये, जिसकी DA ( Domain Authority )  बहेतरीन हो.

13. Internal Links का structure ठीक करे

Internal links का मलतब है आपके webpage पर आपकी ही website के दूसरे pages को दी गयी links.

अगर आप internal links का structure सही कर दे तो न सिर्फ पेज की ranking बढ़ेगी बल्कि आपने दूसरे जिन pages को link दी है उनकी भी value बहोत बढ़ जाएगी.

Internal links का structure कैसे ठीक करे :

अगर आपने पहले से ही अपने pages पर internal links बना लिए है या नहीं बनाए है तो आप नीचे दिये गए tips को use कर सकते है.

  1. Page के ज्यादा से ज्यादा related हो उसी पेज page का ही internal link बनाए.
  2. जो जो links related नहीं है उनको तुरंत हटा दे.
  3. internal links आपके पेज paragraph के अंदर ही दे, अगर हो सके तो.
  4. हर बार link को एक नया anchor text दे.
  5. links के anchor मे high volume keyword का उसे करे.

14. Image को optimize करे

Image optimization seo मे बहुत महत्वपूर्ण factor है. images को optimize करके आप webpage की images का सर्च इंजिन पर high ranking पा सकते हो.

Image को आपको 2 तरह से optimize करना होगा. एक तो आपको image का file size को कम करना होगा और दूसरा आपको images को alt tag देना होगा.

अगर आप wordpress का use करते है तो आपको बहुत सारे एसे plugins मिल जाएंगे. जिनसे आप image की size को optimize कर सकते है.

Blogspot पे ब्लॉग चलाने वाले को images को compress करने के लिए आप compressor.io जैसे टूल्स का use कर सकते है.

दूसरा आपको image को कम से एक alt tag का use करना चाहिए. alt tag मे high volume keyword का उसे करना बहेतरीन है.

15. Social sharing buttons का Use करें

Web पेज पर social sharing button का होना सर्च इंजिन को बहुत positive feedback देता है. और visitor को भी share करने का अधिकार देता है.

मैंने एक 5 साल पहले एक ब्लॉग बनाया था. तब मे ब्लॉगिंग के field नया था और seo के बारे ज्यादा फिकर नहीं करता था. बस एक बात का ध्यान रखा था की जो भी post create करूंगा वो एक तो user को पसंद आनी चाहिए और दूसरा post एक दम compete होनी चाहिए.

जैसे जैसे ब्लॉग की traffic बढ़ती गयी वैसे वैसे मुझे थोड़ा थोड़ा seo का पता चलने लगा. उसके बाद मैंने अपने blog पर कई seo experiment किए. 

वैसे तो मेरे ब्लॉग पर एक simple sharing buttons थे जो, blogspot blog की simple template के साथ आते है.एक दिन मैंने किसी ब्लॉग पर social sharing button with counter के देखा.

उसे देखकार बहोत अच्छा लगा. फिर Addthis के एक social sharing plugins अपने ब्लॉग पर लगाया. उसको लगाने के बाद पता चला की मेरी कई एसी post है जो 1K से ज्यादा बार share की जा चुकी है.

अगर आप wordpress पर blog चलातें है तो आपको उसका plugins मिल जाएगा. पर अगर blogspot पर ब्लॉग है तो आपको Add This पर signup करके उसका Code अपने template मे post करना होगा.

16. Website के Dwell Time को बढ़ाएँ

Dwell time एक metric है जो वेब पेज पर search engine से आने वाले visitor का session duration, engagement और CTR का मूल्यांकन करता है.

Simple भाषा मे समजे तो जब भी कोई visitor आपके web page पर search engine से आता है तो वो कितनी देर तक पेज पर रहता है.

मान लों आपने बहोत hard work कर के page को first page ले आए. पर आपका content बोरिंग है तो user उस पे ज्यादा समय तक टिक नहीं पाएगा और वो back button दबाकर वापस दूसरे page पर चला जाएगा.

जब भी user back button दबाकर दूसरे पेज पर जाता है तो वो सर्च engine को बहुत negative feedback भेजता है. जिससे आपकी ranking धीरे धीरे बहोत कम हो जाएगी.

अगर आपने समय रहते content ठीक नहीं किया तो शायद कुछ समय मे आपका पेज first 100 result से भी बाहर हो जाएगा.

अगर आप किसी high competition niche पर blogging करते है या आपका niche आने वाले समय मे popular होने वाला है तो आपको Dwell time को ठीक करना फायदेमंद होगा.

इसके अलावा आप अगर search engine से traffic पाना चाहते है तो सबसे पहले तो आपको बहोत धैर्य रखना होगा. कितनी भी अच्छी पोस्ट रातो रात first page पर नहीं आ सकती.

बस आपको एक तो blog के niche पर focus बनाए रखना होगा. क्यूंकी एक बार आप multiple niche के पीछे लग गए तो आप अपने goal से बहोत दूर निकाल जाएंगे.

On Page SEO क्या है - 16 Advance Onpage Seo Techniques in Hindi इस article को पूरा पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद. अगर आपके मन मे on-page seo के बारे मे कोई question है तो नीचे comment box मे लिखे.

और इस पोस्ट को share करना बिलकुल फ्री है और sharing मे कंजूसी न करके दूसरे hindi blogger दोस्तो की सहायता करे.

Blogging और Seo की बेस्ट टिप्स अपने email इनबॉक्स मे पाने के लिए अपना ईमेल Adress करे Verify

About Us

Pro Blog Hindi India Blog - Blogging, Seo And Make Money Online Sikhe Hindi Me. Get Daily New Tech News, Motivation Story, Life Hackes And Best Eduction Stuf From Pro Blog Hindi. Hamare Bare Me Aur Jankari Ke Liye Click Here.

DMCA.com Protection Status